Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana/PMJDY: प्रधानमंत्री जन-धन योजना-मूल बचत बैंक जमा खाता/लक्ष्य एवं लाभ/आवश्यक दस्तावेज/आवेदन तथा प्रक्रिया

  
  1. IndianReaders

    IndianReaders Administrator Staff Member

    प्रधानमंत्री जन-धन योजना
    (Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana/PMJDY)
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने १५ अगस्त २०१४ को जन-धन योजना की घोषणा की। २८ अगस्त २०१४ में इस योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गयी। वास्तव में ये ग्रामीण क्षेत्रों में रह रहे हिस्दुस्तान के गरीब लोगों के लिए एक संपत्ति योजना है। प्रधानमंत्री द्वारा शुरू की गयी इस योजना से गरीबों के पैसे बचाने में कारगर योजना है। इस योजना के शुरू होने के साथ ही पहले ही साल में ११ करोड़ लोगों ने खाते खोले। गाँवो में रहने वाले लोगों को सक्षम बनाना ही सही मायने में स्वतंत्र भारत का निर्माण है।

    इस योजना का लक्ष्य लोगों को आर्थिक रूप से सक्षम करना भी है। जिस भी भारतवासी का किसी भी बैंक में एक भी खाता नहीं है उनसे खाता खोलने की अपील की गयी है।इसके लिए मूल बचत जमा खाता या जीरो खाता खोलना होगा। भारत आज भी ग्रामीण क्षेत्रों के पिछड़ेपन के कारन भारत विकाशील देशों में गिना जाता है। इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस योजना को लागु करना है। पिछली योजनाएं गाँवो के कवरेज पर ही थी लेकिन यह योजना गांव के परिवारों पर केंद्रित हैं। यह योजना राष्ट्रीय वितीय समावेशन है जो विभिन्न तरीकों से वितीय सेवाएं जैसे बचत,जमा खाते,विप्रेषण,लोन,बीमा,पेंशन तक पहुँच सुनिश्चित करता है। इस योजना के मुताबिक खाता किसी भी बैंक शाखा अथवा व्यवसाय प्रतिनिधि में खोल जा सकता है। पीएमजेडीवाई खातों जीरो बैलेंस के साथ खोला जा रहा है गाँवो की गरीबी को देखते हुए पहले की इसमें खाता खुलवाने के लिए खाते में बैलेंस डालना अनिवार्य नहीं है।

    Jan-Dhan-Yojna-Benefits.jpg

    हालांकि, खाता धारक अगर किताब की जांच करना चाहती है तो धारक को न्यूनतम बैलेंस मानदंडों को पूरा करना होगा।सुरक्षित तरीके से पैसों की बचत के उद्देश्य के लिये बैंक खातों से हर आम आदमी को जोड़ने के लिये 28 अगस्त 2014 को भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा जन धन योजना की शुरुआत की गयी है। इस धन योजना के तहत बीमा भी किया जायेगा। इस बीमा का लाभ उन्ही लोंगों को मिलेगा जो समय -समय पर निकासी करते रहेंगे। बैंकों की मने तो दुर्घटना में मरने वाले व्यक्ति को तभी पैसें मिलेंगे यदि उसने दुर्घटना से कम से कम ४५ दिन पहले निकासी की होगी।

    लेकिन परेशानी यह है की इस योजना के तहत खोले गए लगभग सभी खातों में जीरो बैलेंस है इसलिए इनमें लेनदेन संभव नहीं है। २८ अगस्त २०१४ को देश के सभी जिलों में इस योजना को एकसाथ लागु किया गया। पिछली योजनाओं में केवल उन्हीं गांवों को शामिल किया गया जिनकी जनसँख्या २००० से अधिक थी जबकि इस योजना के अंतर्गत १०००-१५०० परिवार वाले हर क्षेत्र को कवर किया जाना है। इसके लिए मूल बचत जमा खाता या जीरो खाता खोलना होगा।

    मूल बचत बैंक जमा खाता (BSBDA) क्या है ?
    मूल बचत बैंक जमा खाता(Basic Savings Bank Deposit Account) एक बचत खाता है जिसे रिज़र्वे बैंक ऑफ़ इंडिया १०-०८-२०१२ में शुरू तथा परिपत्र द्वारा परिभाषित किया गया। ऐसे जीरो खाता भी कहते हैं क्योंकि जिस पहले खाता खोलने के लिए खाते में कुछ न कुछ राशि डालनी अनिवार्य थी इसमें ऐसा नहीं है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गरीबों को ध्यान में रखते हुए जीरो खाता की सुविधा प्रदान की है अर्थात इसे खोलने के लिए कोई राशि की आवश्यकता नहीं हैं। ऐसे १० वर्ष से अधिक का koi भी धारक खुलवा सकता है। इस खाते के साथ रुपये डेबिट कार्ड दिया जायेगा। उपलब्ध‍ सेवाओं में‍ बैंक‍ शाखा‍ के ‍साथ साथ एटीएम‍ द्वारा‍ नकद‍ का‍ जमा‍ तथा‍ इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों‍ अथवा‍ चेकों‍ के ग्रहण/जमा‍ करने‍ के ‍ द्वारा‍ धन‍ की‍ प्राप्ति शामिल है। एटीएम में इस कार्ड का महीने में ४ बार इस्तेमाल किया जा सकता है तथा यह सुविधाएं बिना किसी अतिरिक्त लागत के दी जा रहीं हैं।

    योजना का लक्ष्य एवं लाभ
    इस योजना का मुख्य लक्ष्य ग्रामीणों को जागरूक करना और आत्मनिर्भर बनाना है। इस योजना से बैंक सुविधाओं तक सबकी पहुँच सुनिश्चित करना है। ६ महीने बाद ५००० के ओवरड्राफ्ट की सुविधा के साथ बुनियादी बैंक खाते प्रदान करना है तथा रुपये डेबिट कार्ड तथा रुपये किसान कार्ड प्रदान करना है। यह कार्ड एटीएम कार्ड की तरह इस्तेमाल होता है इसे किसी भी एटीएम में तथा ‍ पीओएस मशीनों‍ (खरीदों‍ के लिए नकद‍ रहित भुगतान करने‍ हेतु )‍ इस्तेमाल कर सकते है।

    इसे केवल महीने में चार बार ही इस्तेमाल किया जा सकता है अधिक बार इस्तेमाल करने के लिए कुछ पैसे देने होंगे। एक‍ स्थानीय‍ घरेलू‍ कार्ड है‍ जो‍ की नैशनल‍ पेमेंट‍ कॉपोरेशन‍ ऑफ‍ इंडिया (NPCI) द्वारा प्रारंभ किया गया है। इसके साथ एक लाख का दुर्घटना मृत्यु बीमा भी होगा। इस योजना से पूरे देश में धन का वितरण या आदान प्रदान आसानी से होगा। सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों को इन खातों से लाभ अंतरण प्राप्त होगा। इस yojna के अंतर्गत ३००००/- रुपये का बीमा धारक को उसकी मृत्यु पर सामान्य शर्तों पर मिलेगा। ६ महीने ठीकठाक चलने वाले खाते को ओवरड्राफ्ट दिया जायेगा।

    इस योजना का एक फायदा यह भी इसमें आयु सीमा नहीं है १० वर्ष से अधिक का कोई भी आदमी खाता खुला सकता है। पैंशन बीमा उत्पादन तक पहुँच। प्रत्येक परिवार मुख्यतः परिवार की एक स्त्री के लिए ५०००/- का ओवरड्राफ्ट की सुविधा उपलब्ध है। ओवर ड्राफ्ट खातों में चूक कवर करने के लिए क्रेडिट गारंटी फंड की स्थापना,सूक्ष्म बीमा,स्वावलम्बन जैसी असंगठित क्षेत्र बीमा योजना भी इसके लक्ष्य हैं।

    आवश्यक दस्तावेज
    यदि आधार कार्ड/आधार संख्या उपलब्ध है तो कोई अन्य दस्तावेज आवश्यक नहीं है। यदि पता बदल गया है तो वर्तमान पते को स्वप्रमाणित करके दे।यदि नहीं है तो मतदाता पहचान पत्र, ड्राइविंग लाईसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट तथा नरेगा कार्ड। यदि इन दस्तावेजों में आपका पता भी मौजूद है तो ये “पहचान तथा पते का प्रमाण” दोनों का कार्य कर सकता है।

    यदि आपके पास कोई मुख्य आधिकारिक वैध पहचान पत्र या दस्तावेज नहीं है तो आप बैंक में लघु रिस्क खाता खोल सकतें हैं। इसके लिए स्वयं सत्यापित फोटोग्राफ तथा बैंक अधिकारी के हस्ताक्षर आवश्यक है ।

    आवेदन तथा प्रक्रिया
    इस योजना के कई उद्देश्य है लोगों के मुफ्त खाते खुलवाना,रूपये कार्ड,६ माह में ५०००/- तक का लोन आदि। आवेदन करने के लिए धारक की उम्र १० वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए।आवेदन करने के लिए भारत के किसी भी बैंक में जाएँ तथा आवेदन पत्र प्राप्त कर भरें या फिर इसे ऑनलाइन डाउनलोड भी कर सकतें हैं।

    फार्म भरने के बाद कोई फार्म के साथ आधिकारिक पहचान पत्र लगाएं तथा खाता खोलने वाले अधिकारी के पास जमा करवा दें। यदि वैध दस्तावेज नहीं है तो बैंक उसकी जाँच करेगा यदि वह लघु रिस्क कैटेगिरी में पाया गया तो वह बैंक अधिकारी से एप्लीकेशन पे हस्ताक्षर करवा के लगा सकता है और अपना खाता खुलवा सकता है। नाबालिक होने की स्तिथि में वह अपने अविभावक के साथ संयुक्त खाता खुलेगा तथा अविभावक का पहचान पत्र लगाना होगा।
    अधिक जानकारी के लिए नजदीकी बैंक या ऑफिसियल वेबसाइट से संपर्क करें।


     
  2. guest

    guest New Member

    thanks for providing this useful information to all citizens of India. hope this new scheme of Shri. Narendra Modi will help to poor people to save their money.
     
    Last edited by a moderator: Dec 7, 2016
Draft saved Draft deleted

Share This Page