ddugjy.in: Apply for Deendayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana/DDUGJY Scheme & Benefits/Section/Nodal Agencies-दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना आवेदन/विशेषताएं/नोडल एजेंसी/लाभ

  
  1. IndianReaders

    IndianReaders Administrator Staff Member

    दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना
    (Deendayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana/DDUGJY)
    दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना (डीडीयूजीजेवाई) को नवम्बर २०१४ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में इस योजना की घोषणा की गयी। इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्र में बिजली में बिजली पहुँचना है। सरकार ने १००० दिन यानि १८००० से ज्यादा बिजली रहित गाँवो का विद्युतीकरण करना है। यह भारत सरकार की प्रमुख योजना है जिससे देश का विकास होगा। इसके लिए सरकार ने ग्रामीण के कृषि और गैरकृषि उपभोगताओं को विद्युतापूर्ति के लिए सुलभ बनाने के लिए दोनों वर्गों को अलग अलग किया गया है। यह भारत सर्कार और विद्युत मंत्रालय की प्रमुख योजनाओं में से एक है। इसके अंतर्गत गैर कृषि सेवाओं जैसे ट्रांसफार्मर,फीडर और मीटर लगाने जैसा सम्मिलित होगा। यह योजना राजीव गाँधी विद्युतीकरण योजना को प्रतिस्थापित करेगी।

    राजीव गाँधी विद्युतीकरण योजना में खर्च न किये पैसों को इस योजना में खर्च किया जायेगा। इस योजना में कृषि और गैरकृषि दोनों तपकों में लगभग ४३००० करोड़ रुपये की लागत है जिसमें से भारत सरकार ने लगभग ३३००० करोड़ भारत सरकार ने पूरे क्रियान्वयन के लिए दिये हैं। आर्थिक मामलों में मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीईए) द्वारा अगस्त २०१३ में यह स्वीकृत किया गया था की १२वीं और १३वीं पंचवर्षीय योजना में राजीव गाँधी योजना के अंतर्गत चल रहे कार्यों को इसमें शामिल किया जायेगा।

    Deen-Dayal-Upadhyaya-Gram-Jyoti-Yojna.jpg

    इस योजना से विद्युत वितरण अवधि में भी बढ़ोतरी होगी।मोदी जी अपनी इस योजना के लिए बिहार के पटना शहर को चुना है। पिछले कुछ सालों से यह योजना कार्यरत है। इससे अधिक मांग के समय में लोड की कमी मीटर के अनुसार बिजली की खपत होगी। इस योजना से पिछड़े ग्रामीण सेटरों का विकास होगा तथा देश भी सशक्त बनेगा।

    योजना के अंग तथा विशेषताएं
    (Section & Benefits of Scheme)
    इस योजना का प्रमुख भाग गाँवो में ट्रांसफार्म मीटर अदि का वितरण क्योंकि देश में आज भी करोड़ों ऐसे घर हैं जहाँ बिजली नहीं है। दूसरा खेती करने वालों और नहीं करने वालों के लिए अलग अलग सुधार करना। सबसे बड़ी बात राजीव गाँधी विद्युत योजना को इससे जोड़कर आगे बढ़ाना। सभी वितरण इस योजना के सहायता पात्र होंगे और इस योजना का निष्पादन केन्द्रक अभिकरण (नोडल एजेंसी) करेगी।राजीव गाँधी विद्युत योजना में पहले ही इस पर कार्य किया जा चुका है इसलिए इस योजना को आगे बढ़ाने में अधिक कठिनाई नहीं होगी तथा राजीव गाँधी योजना से बचा हुआ पैसा भी इस योजना में काम आएगा।

    नोडल एजेंसी की भूमिका
    (Roles of Nodal Agancies)
    यह एजेंसी किसी भी राज्य या संघ द्वारा गठित एक प्रबंधन है जो राष्ट्रीय भरोसे का प्रतीक है यह विश्वास की गतिविधियों को अम्ल में लेकर बढ़ावा देता है। एक तरह से कहें तो यह निगरानी समिति है। विद्युत मंत्रालय के मार्गदर्शन तथा दिशानिर्देशों पर ग्रामीण विद्युतीकरण निगम लिमिटेड (आरईसी), नोडल एजेंसी इस योजना को चलाएगी।

    नोडल योजना की फीस के रूप में लागत का ०.५% या फिर अवार्ड कॉस्ट जो भी कम ज्यादा हो। समय समय पर इस योजना के कार्यरूप की परिणिति के लिए सूचित करना इसका कार्य है। कुछ प्रस्तुत करने से पहले (डीपीआर) का मूल्यांकन करना। मंजूरी के लिए निगरानी समिति की बैठकों को चलाना। अनुदान घटक का प्रशासन। विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) के विस्तार वर्णन और परियोजनाओं के एमआईएस के मूल्यांकन करने के लिए एक वेब पोर्टल का विकास करना। कार्यों की गुणवत्ता सहितयोजनाओं की भौतिक और धनसंबंधी प्रगति की निगरानी करना भी इसका प्रमुख कार्य है।

    बजट
    (Budget)
    कार्य के लिए पत्र जारी किये जाने की तारीख से लेकर २ साल के भीतर योजना को पूरा किया जाएगा। इस पूरी योजना में लगभग कम से कम ४३ हज़ार 33 करोड़ रूपये का निवेश की आवश्यकता है। इस कार्य के लिए मंत्रिमंडलीय समिति ने ३९ हज़ार २७५ करोड़ रूपये की लागत को मंजूरी दी है, जिसमें ३५ हज़ार ४७७ करोड़ रूपये की बजट सहायता भी सम्मिलित है। इस योजना के तहत सभी प्राइवेट तथा राज्य के विद्युत् विभाग धन सम्बन्धी मदद के भागी है।इस योजना के संचालन के लिए केन्द्रक/नोडल एजेंसी है। कार्यरत समय में भारत सरकार से 33,453 करोड़ रुपये के बजटीय समर्थन जरूरत है।

    योजना के लाभ
    (Benefits of Scheme)
    दीनदयाल उपाध्‍याय ग्राम ज्‍योति योजना से ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत वितरण की अवधि में सुधार होगा। सभी गाँव व घरों में बिजली आएगी। इसी तरह अधिक माँग के समय ओवरलोड नहीं होगा। कृषि उपज में भी बढ़ोतरी होगी। सभी तरह की स्वास्थ्य,शिक्षा, बैंकिंग आदि सेवाओं में सुधार होगा। रेडियो ,टीवी ,इंटरनेट जैसी सेवाओं का विस्तार। सामजिक सुरक्षा में सुधार। लोगों में जागरूकता आएगी। देश का विकास होगा।

    अधिक जानकारी के लिए कृपया नीचे दी गई वेबसाइट पर जाएँ:

     
  2. guest

    guest New Member

    good Yojana modi ji
     
    Last edited by a moderator: Dec 11, 2016
Draft saved Draft deleted

Share This Page