प्रधानमंत्री रोजगार योजना आवेदन प्रक्रिया तथा लाभ/लक्ष्य/जानकारी-Pradhan Mantri Rojgar Yojana/PMRY

  
  1. IndianReaders

    IndianReaders Administrator Staff Member

    प्रधानमंत्री रोजगार योजना (Pradhan Mantri Rojgar Yojana/PMRY)
    केंद्र सरकार की ओर से वर्तमान में एक योजना शुरू की गयी है जिसका नाम प्रधानमंत्री रोजगार योजना है। वैसे यह योजना 2 अक्टूबर 1993 को शुरू की गयी थी लेकिन अब इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा एक नये से संशोधन करके नये सिरे से लागू की गयी है। इस योजना के तहत शिक्षित बेरोजगार युवाओं को रोजगार उपलब्ध करने हेतु धनसंबंधी सहायता प्रदान करना है।

    योजना का लक्ष्य
    इस योजना का लक्ष्य युवक और युवतियों को बैंकों तथा अन्य वित्तीय स्रोतों से ऋण देकर बेरोजगारी को कम करना और लोगों को आत्मनिर्भर बनाना है। कई युवाओं ने इस योजना का लाभ उठा कर खुद का रोजगार शुरू किया है। इस योजना से लोगों को मोटे ब्याज दर से मुक्ति मिली है। इस योजना का एक लक्ष्य ये वही की लोग नौकरियों पर निर्भर न रहे आत्मनिर्भर बनें और अपना स्वरोजगार करें।

    योजना का लाभ किसे मिलेगा ?
    इस योजना का लाभ 18 से 35 वर्ष के युवा (उत्तर पूर्वी क्षेत्र ४० वर्ष ,अनुसूचित जाति/जनजाति, भूतपूर्व सैनिकों, शारीरिक दृष्टि से विकलांगों और महिलाओं के लिए उम्र में 10 वर्ष की छूट अर्थात; 45 वर्ष की उम्र तक) आवेदन कर सकतें हैं। आवेदक की वार्षिक आय 24000 से कम हो,मैट्रिक पास हो और पारिवारिक आय (पत्‍नी/पति और माता-पिता के साथ हिताधिकारी की आय) 40000 से अधिक न हो। कम से कम 3 वर्ष का स्थायी निवास हो।

    इस परियोजना के अनुसार ऋण की उच्चतम सीमा कारोबार के लिए १ लाख तथा उद्योग क्षेत्र के लिए २ लाख है। अगर दो या दो से अधिक लोग मिलकर मिश्रित व्यापार या उद्योग के लिए आवेदन करें तो यह 10 लाख तक हो सकता है। (सहायता स्वैछिक स्वीकार्यता पर निर्भर होगी।) सब्सिडी परियोजना राशि के 15% होगा जबकि उच्चतम सीमा 7500/- तक होगी, (उत्तर पूर्वी क्षेत्र के लिए 15000/- रु.) मार्जिन राशि परियोजना लागत के 5% से 16.25% तक होगी क्योंकि सब्सिडी और मार्जिन राशि का जोड़, परियोजना लागत के 20% के समान होना चाहिए। सभी क्षेत्रों के लिए 1 लाख रु. तक कोई सहायक प्रतिभूति नहीं होगी।

    (साझेदारी के मामले में इससे छूट ) योजना में भाग लेने वाले लोगो के लिए सहायक प्रतिभूति 1लाख/व्यक्ति होगी। समय समय पर मार्गनिर्देशों के आधार पर ब्याज लगाया जायेगा। चुकौती अनुसूची, गतिविधि के आधार पर 6 से 18 महीने की प्रारंभिक ऋण स्‍थगन अवधि के बाद 3 से 7 वर्ष के बीच होगी।योजना के अनुसार, अनुसूचित जाति/जनजाति के 22.5% और अन्‍य पिछडे वर्ग(ओबीसी) के 27% लोगों को शामिल किया जाएगा. लेकिन, महिलाओं सहित कमजोर वर्गों को भी वरीयता दी जानी चाहिए।

    आवेदन प्रक्रिया
    रोजगार योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा गठित जिला स्तरीय अथवा उपसमिति द्वारा लाभार्थियों का चयन तथा साक्षात्कार किया जायेगा। आवश्यक कागजों की जाँच की जाएगी। चयन,जाँच तथा मूल्यांकन करके आवेदन बैंक को भेज दिए जायेंगे। चयनित युवाओं को लोन दिया जायेगा।

    pmry.jpg

    मात्र लोन की 15 प्रतिशत राशि या अधिकतम 7500 रूपये नकद दिया जाता है। 5% लाभार्थी को अपने तरफ से लगाना होगा। लाभार्थी द्वारा चलाये जा रहे उद्योग धंधे की समीक्षा समय समय पर समिति करती रहेगी। लोन की अदायगी में 6-8 महीने की छूट दी जाती है, परन्तु बाद में लोन के ब्याज दर के साथ आसान किस्तों में 3 से 7 वर्ष के अंदर भुगतान का देना पड़ता है।

    अधिक जानकारी के लिए ऑफिसियल वेबसाइट या नजदीकी बैंक संपर्क करें। नीचे दिए हुए लिंक पर क्लिक कर के पढ़ें पूरी जानकारी।

     
  2. guest

    guest New Member

    i want to start my own business. can i get the loan of 25 lakh from the government.
     
    Last edited by a moderator: Jan 3, 2017
Draft saved Draft deleted

Share This Page